loading...

numerology aur pichhla janam,mystery of previous life




न्यूमेरोलॉजी (अंकशास्त्र) में छिपा है आपके पिछले जन्म का राज़

लोग जीते तो वर्तमान में हैं पर उनका ध्यान अकसर उनके भविष्य में लगा रहता हैI न्यूमेरोलॉजी आने वाला समय कैसा होगा, कल का सूरज कुछ नई आशाओं के साथ आएगा या नहीं, करियर सफलता की ऊचाइयों को छू पाएगा या नहीं, इच्छा अनुसार शादी होगी या नहीं, ये वो तमाम सवाल हैं जिनके उत्तर खोजने के लिए व्यक्ति को ज्योतिष विद्या का ही सहारा नज़र आता है I



भविष्य के बारे में जानने की जिज्ञासा उत्पन्न होना एक आम बात है परन्तु आपके भीतर क्या अपने अतीत के लिए कोई उत्सुकता नहीं है I यदि आप भी अपने अतीत के बारे में सोचती हैं या सोचते हैं, तो आपके अतीत से जुड़े सवालों के जवाब आज हम आपको अवश्य देंगे I



आने वाला कल





भविष्य में क्या होगा, हमारा आने वाला कल कैसा होगा, कल का दिन कैसा होगा, जिन मुश्किलों से हम आज जूझ रहे हैं क्या वो कल भी रहेंगी या फिर निरंतर बढ़ते रहेंगी.. हमारा कॅरियर कैसा रहेगा, लव-मैरेज होगी या अरेंज्ड... अकसर लोग ज्योतिष विद्या का सहारा अपने कुछ इन्हीं प्रश्नों को जवाब ढूंढ़ने के लिए लेते हैं।



ज्योतिष





ये बात शत-प्रतिशत सच है कि ज्योतिष की भिन्न-भिन्न शाखाओं की सहायता से आप अपने भविष्य की पड़ताल कर सकते हैं लेकिन ये विद्याएं आपका भविष्य ही नहीं अतीत भी बता सकती हैं..कभी इस बारे में आपने सोचा है।


अतीत





अतीत का आश्यक भाग बीता हुआ कल नहीं बल्कि आपका बीता हुआ जन्म है। क्या आपके भीतर कभी-कभी ये जानने की इच्छा नहीं होती कि आत्मा बार-बार जन्म ले सकती है तो फिर हमारा पिछला जन्म क्या रहा होगा?


ज्योतिष विद्या





अगर वाकई आप ये जानना चाहते हैं तो यहां आपके हर सवाल का जवाब मौजूद है। दरअसल ज्योतिष विद्या की एक शाखा, अंकशास्त्र के जरिए हम यह समझ सकते हैं कि पिछले जन्म में हम क्या रहे होंगे।


जीवन मार्ग





लेकिन इसके लिए सबसे पहले आपको अपने जीवन मार्ग का नंबर जांचना होगा। आपकी आत्मा का सफर किस मार्ग हो रहा है, इसका पता लगाने के लिए आपको अपने जन्म की तारीख और साल का जोड़ करना होगा।



आपका अंक





मसलन अगर आपका जन्म 26/6/1988 को हुआ है तो आपका अंक हुआ 40= 4 0 हुआ 4, तो मतलब आपका अंक है 4।


आंतरिक अंक





अपने जीवन मार्ग का नंबर जानने के बाद आपको जरूरत है उस अंक का पता लगाने की जो आपका आंतरिक अंक है, जिसका संबंध सीधे आपकी आत्मा के साथ है। आपके नाम में जितने भी वॉवल यानि स्वर हैं अब उन्हें जोड़िए।


स्वर का अंक





हर स्वर का अंक अलग-अलग है जैसे ए का अंक है 1, ई का अंक है 5, आइ का अंक है 9, ओ का अंक है 6 और यू का अंक है 3।


आंतरिक नंबर





मान लीजिये आप का नाम तमन्ना है तो आपके नाम में 3 ‘ए’ आते हैं, तो इस हिसाब से आप का आंतरिक नंबर हुआ 3।


पिछले जन्म का अंक





तीसरे पड़ाव में आपको अपने आंतरिक अंक और जीवन मार्ग के अंक को जोड़ना है। जैसे 4 3, यानि 7। मतलब आप के पिछले जन्म का अंक है 7।


कनेक्शन





उम्मीद है अब तक आप सब कुछ जोड़-घटा चुके हैं और आपके पास आपका नंबर है। तो चलिए जानते हैं किस नंबर का पिछले जन्म से क्या कनेक्शन है।



नंबर 1



नंबर 1 ये बताता है कि पिछले जन्म में आपके हाथ में नेतृत्व की बागडोर थी। आप बेहतरीन नेता रहे होंगे, शायद कोई राजा या रानी। आपको सामाजिक सम्मान के साथ-साथ आलीशान जीवन व्यतीत करने का भी अवसर प्राप्त हुआ था।

कानून


कानून बनाना और उन्हें तोड़ना सब आप ही के हाथ में रहा होगा। इस बात की संभावना है कि आपको देश निकाला का सामना करना पड़ा हो।


नंबर 2



नंबर 2 का संबंध प्रेम और रिश्तों से है। ये भी संभावना है कि पिछले जन्म में आप जुड़वा रहे हों और अगर इस जन्म में आपका कोई जुड़वा भाई या बहन नहीं है तो आपको कुछ कमी का अहसास हो रहा हो।


आपका अतीत

आपका अतीत यानि कि पिछला जन्म बहुत दुखों से भरा रहा होगा, विशेषकर दिल के मामले में अकसर आपको हार ही मिली होगी। लेकिन हो सकता है जिस प्रेमी को आप तब नहीं पा सके उसे इस जन्म में पा लें।


नंबर 3



नंबर 3 का अर्थ है कि संबंधित व्यक्ति निश्चित तौर पर अपनी पास्ट लाइफ में बहुत रचनात्मक रहा होगा। आपके पास अपना परिवार था और आप उनके साथ बहुत खुश थे। आपमें से कुछ लोग किसान भी रहे होंगे और बड़ी जमीन के मालिक भी होंगे। कुछ लोग टोने-टोटके जैसे कार्यों में भी रहे होंगे।


नंबर 4



नंबर 4 के लोगों का पिछला जन्म बहुत दिलचस्प रहा होगा, निगेटिव-पॉजिटिव, दोनों तरीकों से हो सकता है कि उनका पूर्वजन्म काफी रोमांचक रहा हो।

कैदी या बंधक


आपमें कुछ लोग कैदी या बंधक भी रहे होंगे, ये भी संभावनाएं हैं कि आपको अत्याधिक गरीबी का भी सामना करना पड़ा हो। नंबर 4 के जातक सेना में शामिल रहे होंगे, जिसकी वजह से उन्हें युद्ध के कैदी बनना पड़ा होगा।


नंबर 5



नंबर 5 के जातक अपने पूर्वजन्मों में युद्ध के माहौल में रहे होंगे, उन्होंने कई लड़ाइयां लड़ी होंगी। कुछ लोग ऐसे भी होंगे जिन्हें बड़े युद्धों के बाद दोबारा से अपना जीवन व्यवस्थित करना पड़ा हो।


नंबर 6



नंबर 6 के जातकों का संबंध जीसस क्राइस्ट के समय से है, वे या तो ईसा मसीह के समय से जुड़े रहे होंगे या महात्मा बुद्ध के काल के होंगे। अपने हर जन्म में आप प्रेम और त्याग का परिचय देते रहे हैं, आपका समय ध्यान और अध्यात्म में बीता होगा ।


7 नंबर



7 नंबर अपने आप में ही अध्यात्म का परिचायक है, ऐसे लोग जिनका नंबर 7 आया है निश्चित तौर पर वे अपने पिछले जन्म में धार्मिक और आध्यात्मिक रहे होंगे, ईश्वर से उनकी नजदीकी उनके लिए बहुत जरूरी थी।


आदरणीय बुजुर्ग


हो सकता है आप अपने समुदाय या परिवार के आदरणीय बुजुर्ग भी रहे हों। लेकिन एक बात और भी हो सकती है कि शायद आप धर्म का शिकार भी रहे हों, आपके प्राण धर्म की आड़ में ही लिए गए हों।


8 नंबर



जिन लोगों का संबंध 8 नंबर से है, मुमकिन है कि अपने पिछले जन्मों में या तो चिकित्सा से जुड़े रहे हों या फिर ऊपरी शक्तियों से सामान्य जन को मुक्ति दिलवाने का प्रयास करते हों। आप वकील भी हो सकते हैं, बैंकर भी..

धन


लेकिन एक बात सच है कि आप भले ही कुछ भी रहे हों लेकिन धन का आपके पूर्व जन्मों में बड़ा महत्व रहा होगा। या तो आप बहुत धनी रहे होंगे या फिर इतने निर्धन की आपकी मृत्यु का कारण भूख-प्यास रही हो।


अंक 9



न्यूमरोलॉजी में जिनका अंक 9 आया है वे जन्मों जन्मों से केवल नेतृत्व करते आ रहे हैं। सबसे खास बात यह है कि अगर वो नेतृत्व करने की भूमिका में नहीं भी हैं तो भी उन्हें कहीं ना कहीं यही अहसास होता है कि वो ही सबके लीडर हैं।


माता-पिता


ये लोग हर किसी का ध्यान रखते हैं, लेकिन कभी अपने बारे में नहीं सोचते। अगर आपका नंबर 9 आया है तो मुमकिन है हर जन्म में आपका अपने माता-पिता के साथ अच्छे संबंध ना होंं।



सोर्स:SpeakingTree
loading...

एक टिप्पणी भेजें

योगदान देने वाला व्यक्ति

Blogger द्वारा संचालित.